Header Ads

ई-गवर्नेंस क्या है? ई-गवर्नेंस के फायदे और नुक्सान हिंदी में!

ई-गवर्नेंस क्या है? जिससे हमारे देश की जनता को टेक्नोलॉजी की  जानकारी हो सकें और उसकी मदद से जनता सरकार से जुड़े। इसके अलावा ऑनलाइन इंटरनेट के माध्यम से ही जनता अपने काम को पूरा कर सकें।

e governance Kya hai,ई-गवर्नेंस क्या है?  ई-गवर्नेंस के फायदे और नुक्सान हिंदी में
e governance Kya hai

ई-गवर्नेंस क्या है? आज के लेख में इसके बारे में हम आज बात करेंगे। आप भी ई-गवर्नेंस का इस्तेमाल करना चाहते है। ई-गवर्नेंस के बारे में कुछ लोग जानते भी होगें और नहीं जानते भी होगें। तो आज हम ई-गवर्नेंस की पुरी जानकारी, उसके फायदे और नुकसान के बारे में जानेंगे।

आज-कल ऑनलाइन की चर्चा बहुत सुनने में आ रही हैं। इसी के वजह से इंडिया डिजिटल हो रहा है। आपने देखा ही होगा कि हर एक काम अब ऑनलाइन हो रहा है। ऑनलाइन की वजह से ही कोई भी काम अब आसान और इसी के साथ समय की बचत भी हो रही हैं। सरकार बहुत सी ऐसी योजनायें बना रहीं हैं। जिससे देश तरक्की के और जाकर शक्तिशाली बन सकें। अपने काम को बेहतर बनाने के लिए सरकार अलग-अलग तरह के प्रयास कर रही है।

आपने कभी सरकारी दफ्तरों में जाकर देखा ही होगा कि, सरकारी कामों को पूरा करने में लंबे समय की शिडिया पार करना होती थी। और उसमें बहुत सारी समस्या आती थी। इंटरनेट और ऑनलाइन ने इस समस्या को हल करने में मदद की हैं। इसी वजह से सरकारी कामों के गति को बढ़ावा मिल रहा है। लेकिन ई-गवर्नेंस ने अब इस काम को और सरल बना दिया है।

ई-गवर्नेंस क्या है? (What is E-Governance?)

ई-गवर्नेंस भारत सरकार की एक ऐसी सर्विस है। जिसमें ऑनलाइन के द्वारा सभी सरकारी कामों को जनता तक पहुँचाया जाएगा। पहले हमें सरकारी कामों को पूरा करने के लिए बार-बार दफ्तर के चक्कर लगाने पड़ते थे। लेकिन अब ई-गवर्नेंस सर्विस के माध्यम से आप कोई भी काम कम समय में पुरा कर सकते हैं। ई-गवर्नेंस सर्विस के माध्यम से सरकारी कामों के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आपको बाहर जाने की जरूरत नहीं होगी। आप घर बैठे ही इंटरनेट माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। कहीं राज्यों की सरकार इंटरनेट के द्वारा सरकारी सर्विस और सूचनाएं ये ऑनलाइन सुविधा लोगों को प्रदान कर रही है।

यह लेख भी पढ़ें :- प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना क्या है । सम्पूर्ण जानकारी, ऑनलाइन फॉर्म और आवेदन कैसे करें हिंदी में!

ई-गवर्नेंस का उद्देश्य

ई-गवर्नेंस सर्विस किन उद्देश्यों के लिए बनाई गई है। देखते है,
• सरकारी कामों की गति को बढ़ावा देना।
• इंटरनेट का उपयोग करके डिजिटल काम करना।
• देश की जनता को इंटरनेट का इस्तेमाल कैसे करें। इसकी जानकारी प्राप्त होगी।

ई-गवर्नेंस द्वारा मिलने वाली सुविधाएँ

ई-गवर्नेंस इस भारत सरकार की सर्विस के माध्यम से आप विभिन्न तरह के सरकारी कामों को पूरा कर सकते है। इस सर्विस के अंतर्गत आप कौन-कौन से कामों और सेवाओं का लाभ ले सकते है। चलिए जानते हैं।

आप इसमें ऑनलाईन नागरिकी सेवाओं का लाभ उठा सकते है। जैसे कि, मतदान पत्र, आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, राशन कार्ड, जाती का प्रमाण पत्र ऑनलाईन बनवा सकते हैं और उनका वेरिफिकेशन करवा सकते है।

मोबाइल बिल, टेलीफ़ोन बिल, पानी का बिल, बिजली बिल का भुगतान करना ये ऑनलाइन सुविधा उपलब्ध हैं।

आपने कभी बाहर जाने के लिए रेलवे का टिकट खरीदा होगा। तो आपको एक लंबे कतार में खड़े होकर रेलवे का टिकट खरीदना पड़ा होगा। रेलवे टिकट, हवाई टिकट, बस टिकट बुकिंग करना अब यही सुविधा को आप ई-गवर्नेंस के माध्यम से ऑनलाइन बुक कर सकते है।

सरकारी नौकरी के लिए ऑनलाइन आवेदन, छात्रवृत्ति के लिए आवेदन, कॉलेज में एॅडमिशन, परीक्षा का परिणाम देखने के लिए इस तरह की विभिन्न शिक्षा सेवाओं के प्रयोग हेतू आप ई-गवर्नेंस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं। और अन्य तरह के प्रमाण पत्र ऑनलाइन बनवाने के लिए आपको ई-गवर्नेंस सर्विस लाभकारी साबित हो सकती है।

ई-गवर्नेंस के प्रकार (Types of E-Governance)

ई-गवर्नेंस का लाभ जनता और सरकार दोनों को भी होता है। तो आइए ई-गवर्नेंस के विभिन्न क्षेत्र के बारे में जानते हैं।

• G to G (Government To Government)

G to G का अर्थ है सरकार से सरकार तक।
उदा: एक सरकारी विभाग और दूसरे सरकारी विभाग में कार्यों का लेन-देन

• G to C (Government To Citizen)

G to C का अर्थ है सरकार से नागरिक तक।
उदा: सरकार और नागरिक के बीच का व्यवहार

• G to B (Government To Business)

G to B का अर्थ है सरकार से व्यापारिक क्षेत्र तक।
उदा: सरकार और व्यापारिक क्षेत्र के बीच में लेन-देन का संपर्क

• G to E (Government To Employees)

G to E का अर्थ है सरकार से कर्मचारी तक।
उदा: सरकार और कर्मचारी के बीच कार्यों के लिए संपर्क

• C to C (Citizen To Citizen)

C to C का अर्थ है नागरिक से नागरिक तक।
उदा: नागरिक का नागरिक से आपस में संपर्क होता है।

ई-गवर्नेंस के फायदे (Advantages of E-Governance)

ई-गवर्नेंस सर्विस के प्रयोग से विभिन्न तरह के लाभ प्राप्त होते है।

• ई-गवर्नेंस सर्विस द्वारा कोई भी काम अब समय पर और आसानी से किया जाता हैं।

• ई-गवर्नेंस के मदत से
रिश्वतखोरी को अब नियंत्रित किया जायेगा।

• अब विभिन्न तरह के कामों को कम समय में पुरा किया जा सकता है।

• दफ्तरों में कागज़ों के खर्चों में कटौती आयी है।

• ई-गवर्नेंस सर्विस द्वारा सरकारी कार्यों को पूरा करने में अब दक्षता और सरलता मिलेगी।

• मोबाईल और कंप्यूटर में भी ई-गवर्नेंस सर्विस का इस्तेमाल कर सकते हैं।

यह लेख भी पढ़ें :- एल आर सी पॉलिसी पर लोन कैसे ले । एल आर सी लोन लेने के लिए क्या दस्तावेज होना चाहिए।

ई-गवर्नेंस के नुक्सान (Disadvantages of E-Governance)

ई-गवर्नेंस सर्विस के प्रयोग से विभिन्न तरह के जैसे लाभ होते हैं। उसी तरह उसके नुकसान भी होते हैं।

• ई-गवर्नेंस सुविधा का प्रयोग कैसे होता हैं। लोगों को इसकी जानकारी न होने से बहुत सारे लोग इस सुविधा से वंचित रहते हैं।

• इस सुविधा के उपयोग हेतु हमें इंटरनेट का इस्तेमाल करना है। और इंटरनेट पर दी हुई अपनी व्यक्तिगत जानकारी असुरक्षित हो सकती है।

• हमारे ग्रामीण क्षेत्रों के बहुत सारे लोगों को टेक्नोलॉजी का ज्ञान न होने की वजह से वह इस सुविधा का लाभ उठा नहीं पा रहे हैं।

• हमारे देश के कई ग्रामीण दुर्लभ क्षेत्रों में इंटरनेट की सुविधा न होने से लोगों को इस सुविधा का लाभ नहीं होता है।

Conclusion

हम आशा करते हैं कि, आपको हमारा आज का लेख ई-गवर्नेंस क्या है? ज़रूर पसंद आया होगा। आपको ऐसे ही कुछ नई महत्वपूर्ण जानकारी पढ़ने के लिए उपलब्ध करा देना। यही www.newarticles.in का प्रयास है।

आपको हमारा लेख ई-गवर्नेंस के फायदे क्या हैं?
के बारे में कोई समस्या है। तो आप हमें Comment करके ज़रूर बताएं।

दोस्तों Latest Update पाने के लिए www.newarticles.in को Subscribe करना ना भूले। ताकि आपको हमारे आने वाले नए लेख के बारे में Latest Update फ्रि में मिलते रहें।

दोस्तों हमारा आज का लेख ई-गवर्नेंस के नुक्सान क्या है?
आपको कैसा लगा। हमें Comment करके आपकी प्रतिक्रिया ज़रूर बताएं। और साथ ही साथ इस लेख को Like और Share करना ना भूलें। तो चलिए दोस्तों मिलते हैं। हमारे अगले आने वाले नए लेख में , तब तक के Good Day.

No comments

Powered by Blogger.